विश्व के महासागरों से संबंधित संपूर्ण जानकारी Online-study.org.in




 विश्व के महासागर एवं उनकी विशेषताएं 


                   
विश्व के महासागर, महासागर list , महासागर प्रश्न उत्तर
Ocean Image

जिस प्रक्रम में जल लगातार अपने स्वरूप को बदलता है रहता है और महासागरों , वायुमंडल के एवं  धरती के बीच चक्कर लगाता है उसको जलचक्र कहते हैं
महासागरों एवं समुद्रों का जल की लवणीय होता है
जिसमें अधिकांश सोडियम क्लोराइड या खाने में उपयोग किए जाने वाला नमक होता है


जल के कारण ही पृथ्वी को " नीला ग्रह" कहा जाता है पृथ्वी का लगभग 71% भाग जल तथा 29% भाग स्थल है  संपूर्ण भूमंडल का क्षेत्रफल 51 करोड वर्ग किलोमीटर है जिसके 36.17 करोड़ वर्ग किलोमीटर का पर जल और 14 .89 करोड वर्ग किलोमीटर  पर स्थल का विस्तार शामिल है



पृथ्वी को जल गोलार्द्ध ( Water Hemisphere )
और स्थल गोलार्द्ध ( land Hemisphere ) मैं बांटा जाता है


  महासागरीय अधस्थल का उच्चावच


महासागरीय अधस्थल का प्रमुख भाग समुद्र तल के नीचे 3 से 6 किलोमीटर के बीच पाया जाता है


  महासागरीय अधस्थल का विभाजन 



● महाद्वीपीय शेल्फ -( Continental Shelf  ) महाद्वीपीय शेल्फ प्रत्येक महाद्वीप का विस्तृत सीमांत होता है

●आर्कटिक महासागर में साइबेरियन सेल्फ विश्व में सबसे बड़ी है

● संसार का 20% पेट्रोलियम और  गैस यहीं से प्राप्त होता है

● महाद्वीपीय ढाल- ( Continental  Slope)महाद्वीपीय ढाल महासागरीय बेसिन और महाद्वीपीय शेल्फ को जोड़ती है इसकी शुरुआत वहां होती है जहां महाद्वीपीय शेल्फ कि तली तीव्र  ढाल में परिवर्तित हो जाती है

इस क्षेत्र का सर्वाधिक विस्तार अंटार्कटिक महासागर में 12. 4 प्रतिशत पाया जाता है

● गंभीर सागरीय मैदान- ( Deep Sea Plain ) गंभीर सागरीय मैदान महासागरीय  बेसिनो के मंद ढाल वाले क्षेत्र होते है



● महासागरीय गर्त-  ( Oceain Deep ) यह महासागरों के सबसे गहरे भाग होते हैं अब तक लगभग 57 गर्तो  को खोजा गया है जिनमें से 32 प्रशांत महासागर में 19 अंटलाटिक महासागर में एवं से  6 हिंद महासागर में है

● हडसन कैनियन विश्व का सबसे अधिक जाना माना के केनियन है

● प्रवाल विरंजन के कारण ही महासागरीय जल के तापमान में वृद्धि होती है

● पूर्ण स्वच्छ जल पर प्रवालों के विकास के लिए हानिकारक होता है



                     
पृथ्वी के महासागर व सागर , महासागर list in hindi
महासागर चित्र

           महासागरीय निक्षेप 


● स्थलीय भूमिज निक्षेप

● जैविक निक्षेप या कार्बनिक निक्षेप

● अकार्बनिक पदार्थ-  लाल मृतिका सागर नितल पर सबसे अधिक पाई जाती है


● ब्रह्मांडीय निक्षेप



    महासागरीय जल का तापमान 

● महासागरों के सतही जल का तापमान विषुवत वृत्त से ध्रुवों की ओर घटता चला जाता है





           विश्व के महासागर 



● महासागर जलमंडल के मुख्य भाग है ये आपस में एक दूसरे से जुड़े हुए हैं महासागरीय जल हमेशा गतिशील रहता है


● विश्व के चारों महासागर अवरोही (घटते) क्रम में-  प्रशांत महासागर  > अटलांटिक  महासागर > >हिंद  महासागर  > आर्कटिक महासागर

                 
World Geography,  India Geography,  ocean and sea list in hindi

World Ocean image


1. प्रशांत महासागर

यह सबसे बड़ा महासागर है जो विश्व के कुल क्षेत्रफल का लगभग एक तिहाई भाग पर विस्तृत विश्व का लगभग आधे से अधिक जल इसी महा सागर में है यह इतना विशाल है कि इसका क्षेत्रफल सातों महाद्वीपों से भी अधिक है 

इसकी आकृति त्रिभुज के समान यह विश्व का सबसे प्राचीन एवं सबसे विशाल महासागर है


इसकी औसत गहराई 4572 मीटर चौड़ाई 16785 किलोमीटर एवं लंबाई 24880 किलोमीटर है


● विश्व के 60% से अधिक भूकंप एवं ज्वालामुखी इस महासागर के तटीय भागों में आते है

● इस के तटीय भागों को अग्नि मेंखला (Fire Ring) कहा जाता है

● प्रशांत महासागर में लगभग 20,000 द्वीप है 

● विश्व के सर्वाधिक द्वीप इसी महासागर में है





2. अटलांटिक महासागर- (Aglantic Ocean)



इसे अंध महासागर या आंध्र महासागर भी कहते हैं अटलांटिक महासागर का क्षेत्रफल 8.296 करोड वर्ग किलोमीटर है जो पृथ्वी के क्षेत्रफल का 16% (लगभग एक ⅙ भाग) है




यह आकार की दृष्टि से पृथ्वी पर स्थित दूसरा बड़ा महासागर है इसकी आकृति अंग्रेजी के " S " अक्षर के समान है 

● इस महासागर के मध्य में एक जल मग्न पर्वत तंत्र स्थित है जिसे मध्य अटलांटिक कटक कहा जाता है

● अटलांटिक महासागर के तट रेखा बहुत अधिक दंतुरित है

● यह महासागर विश्व का सबसे व्यस्त समुद्री जलमार्ग है

● बरमूडा ट्रायंगल एक रहस्यमई क्षेत्र है जो उत्तरी पश्चिमी अटलांटिक महासागर में स्थित है

● अटलांटिक महासागर की सबसे बड़ी विशेषता मध्य अटलांटिक कटक है

● अटलांटिक महासागर का सबसे गहरा गर्त - प्यूर्टोरिको गर्त 

● सबसे बड़ा द्वीप-    ग्रीनलैंड




3. हिंद महासागर-  (Indian Ocean)



प्राचीन भारतीय ग्रंथों में इसका नाम रत्नाकर मिलता है हिंद महासागर का क्षेत्रफल 7.34 करोड वर्ग किलोमीटर एवं इसकी औसत गहराई 3873 मीटर है इसका उद्भव गोंडवाना लैंड के विखंडन के पश्चात हुआ


●इसकी आकृति त्रिभुजाकार है

● भारत तथा अफ्रीका के मध्य काल्र्सवर्ग कटक  पाया जाता है


4. आर्कटिक महासागर- (Arctic Ocean)


यह महासागर उत्तरी ध्रुव के चारों ओर फैला हुआ है इसे उतरी  ध्रूव  महासागर भी कहते हैं इसका क्षेत्रफल 1.40 करोड वर्ग किलोमीटर एवं गहराई 1280 मीटर है यह विश्व का सबसे छोटा एवं उथला महासागर है

● वर्ष के अधिकतर समय में यह जमा रहता है
यह एकमात्र ऐसा महासागर है जो बर्फीला है यह बेरिंग जलसंधि द्वारा प्रशांत महासागर एवं डेनमार्क जलसंधि द्वारा अटलांटिक महासागर से जुड़ा है


● आर्कटिक महासागर का यूरेशियाई बेसिन सबसे गहरा गर्त है

● साइबेरियन शेल्फ विश्व में सबसे बड़ा तट जो इसी महासागर पर स्थित है













 कृपया पोस्ट शेयर करें