राजस्थान की प्रमुख नदियां






   राजस्थान की मुख्य नदियां  व उनके 

   उद्गम स्थल



Rajasthan gk, rajasthan ke parmukh nadiya,  river of rajasthan , rajasthan nadiyo ki list
राजस्थान की प्रमुख नदियां



●  राजस्थान की अधिकांश नदियां बरसाती  है माही व चंबल प्रमुख बारहमासी नदी है तथा लूनी व बनास प्रमुख बरसाती नदियां है 

●  अरावली पर्वत श्रंखला प्रदेश की नदियों को दो भागों में विभाजित करती है

१.   बंगाल की खाड़ी में जल  ले जाने वाली नदियां  -  चंबल ,बनास ,कालीसिंध, पार्वती, बाणगंगा, खारी, बेड़च ,गंभीर आदि   नदीयाॅ  अरावली के पूर्वी भाग में प्रवाहित है

२.  अरब सागर में जल ले जाने वाली नदियां  -   माही ,सोम ,जाखम ,साबरमती, पश्चिमी बनास ,लूणी आदि पश्चिमी बनास व लूनी नदी गुजरात में कच्छ के रण में विलुप्त हो जाती है



●  आंतरिक जल प्रवाह की नदियां -  काकनी, कातली, साबी, घग्घर ,मेंथा ,बांडी ,रुपनगढ़ आदि

●   राज्य में चूरू एवं बीकानेर ऐसे जिले हैं जहां कोई भी नदी नहीं है

●  राजस्थान में पूर्णत: बहने वाली सबसे लंबी नदी तथा सर्वाधिक जल ग्रहण क्षेत्र वाली नदी बनास है

●  राजस्थान की सबसे लंबी नदी व सर्वाधिक सतही  जाने वाली नदी चंबल है

●   राज्य में कोटा संभाग में सर्वाधिक नदियां है

●  सर्वाधिक बांध चंबल नदी पर बने हुए हैं इस पर राजस्थान में सबसे बड़ा बांध राणा प्रताप सागर है

●  सर्वाधिक जिलों में बहने वाली नदियां  -  चंबल, बनास व  लूनी  प्रत्येक नदी 6 जिलों में बहती है

● चंबल नदी राज्य की एकमात्र  ऐसी नदी है जो राजस्थान व मध्य प्रदेश की सीमा बनाती है

●  माही, सोम और जाखम नदियों के संगम पर बेणेश्वर धाम वनवासियों का महातीर्थ है

●  सोम नदी के किनारे डूंगरपुर में देव सोमनाथ मंदिर स्थित है


      राजस्थान की प्रमुख नदियां  


1.  लूनी नदी 

● उद्गम-   अजमेर की नाग पहाड़ियां 
●   कुल लंबाई-   495 किलोमीटर
●  यह नदी पूर्णतया बरसाती है इसका जल बालोतरा ( बाड़मेर ) तक मीठा और बाद में खारा  है
●  बहाव  क्षेत्र-   नागौर, पाली ,जोधपुर, बाड़मेर, जालोर, गुजरात   कच्छ के रण में विलुप्त हो जाती है



2.   जवाई   नदी


●  उद्गम -   बाली ( पाली ) के गोरिया गांव की पहाड़ियां
●   बहाव क्षेत्र  -  पाली ,जालौर, बाड़मेर में यह लूनी नदी में मिल जाती है
●  सुमेरपुर ( पाली ) के निकट इस पर जवाई बांध बना हुआ है




3.   घग्घर नदी 


●   उद्गम -   हिमाचल प्रदेश में शिमला के पास शिवालिक की पहाड़ियां
●   इस नदी में अक्सर बाढ़ आती रहती है
●  इस नदी को मृत नदी के नाम से भी जानते हैं
●  यह वैदिक संस्कृति की सरस्वती नदी कहलाती है



4.  पश्चिमी बनास - 


● उद्गम-   सिरोही के दक्षिण में ' नया सानवारा ' गांव के निकट अरावली की पहाड़ियां
●  प्रवाह क्षेत्र -  सिरोही गुजरात लिटिल रण कच्छ के रण ,गुजरात में विलुप्त हो जाती है
●  गुजरात का एक नगर डिसा नगर इसी नदी पर बसा हुआ है




5.  माही नदी-  


●उद्गम -   मध्यप्रदेश में धार जिले के सरदारपुरा के निकट विंध्याचल की पहाड़ियों में मेहद झील
●  कंड़ाना  बांध इसी नदी पर बना हुआ है
●  यह नदी खंभात की खाड़ी में गिरती है
●  इसके प्रवाह क्षेत्र को छप्पन का मैदान कहते हैं
●  यह तीन राज्यों मध्य प्रदेश ,राजस्थान व गुजरात में बहती है
●  इसकी कुल लंबाई 576 किलोमीटर है
●  यह नदी कर्क रेखा को दो बार पार करती है
●  इस नदी पर माही बजाज सागर बांध बनाया हुआ है जो बांसवाड़ा के बोर खेड़ा ग्राम के पास है




6.  सोम नदी - 


● उद्गम - खेरवाड़ा में ऋषि ऋषभदेव उदयपुर के निकट बाछामेंडा की पहाड़ियां



7.    जाखम नदी  - 


● उद्गम-   छोटी सादड़ी प्रतापगढ़




8.  चंबल नदी  -


●  उद्गम-   मध्यप्रदेश प्रदेश के विंध्याचल पर्वत की जानापाव पहाड़ियां
●  इसकी कुल लंबाई 1051 किलोमीटर है
●   राजस्थान में यह केवल 322 किलोमीटर तक बहती है
●   यह तीन राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश में बहती है
●  यह बारहमासी नदी है
●  चंबल यमुना की मुख्य सहायक नदी है
●  इस नदी पर भैंसरोड़गढ़ के निकट चूलिया प्रपात है
●  इस नदी पर गांधी सागर, राणा प्रताप सागर, जवाहर सागर ,बांध व कोटा बैराज बने हुए हैं
●  इस नदी को चर्मण्वती  व कामधेनु भी कहते हैं



9.  पार्वती नदी - 

●उद्गम -  सेहोर में विंध्याचल श्रेणी मध्य प्रदेश



10.  कालीसिंध नदी - 


● उद्गम -  देवास मध्य प्रदेश के पास बांगली गांव की पहाड़ियां
●  यह झालावाड़ मैं रायपुर के निकट राजस्थान में प्रवेश करती है


11.  आहू नदी -  


●यह सुसनेर मध्य प्रदेश से निकलती है
●  कोटा व  झालावाड़  की सीमा पर बहती हुई गागरोन झालावाड़ में कालीसिंध में मिल जाती है


12.  बनास नदी  -


●  उद्गम -  राजसमंद में कुंभलगढ़ के निकट खमनोर की पहाड़ियां
●  यह पूर्णत राजस्थान में बहने वाली सबसे लंबी नदी है
●  इसकी कुल लंबाई 512 किलोमीटर है
●  यह बरसाती नदी है तथा राज्य में इसका जल ग्रहण क्षेत्र सर्वाधिक है
●  सवाई माधोपुर में रामेश्वर के निकट चंबल में मिलती है
●  टोंक जिले में बीसलपुर बांध किस नदी पर निर्मित है
●  इस नदी को वन की आशा के नाम से भी जानते हैं



13.  बैड़च  नदी-  


●उद्गम -  उदयपुर की गोगुंदा की पहाड़ियां
●  इस नदी पर घोसुण्डा बांध बना हुआ है
●  बेड़च ,बनास व मेनाल नदी के संगम स्थल को त्रिवेणी कहते हैं


14.  गंभीर नदी  -  


●उद्गम - करौली तहसील
●  प्रवाह क्षेत्र -  करौली ,भरतपुर, उत्तर प्रदेश, धौलपुर ,उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में यमुना में मिल जाती है
●  पांचना व पार्वती इसकी मुख्य सहायक नदी है


15.  पार्वती नदी - 


● उद्गम -  करौली जिले के सपोटरा तहसील की पहाड़ियां
●  इस नदी पर धौलपुर में पार्वती बांध बनाया गया है




कृपया पोस्ट शेयर करें